Focarts

Design Store

पटना कलम के बाद : बिहार की कला (भाग-1)

 1,200

सन् 1790 ई. के बाद से लेकर वर्तमान समय तक बिहार में चाक्षुष कला की क्या परिस्थितियां रहीं, क्या बदलाव आये और उनमें बिहार का क्या योगदान रहा,  “पटना कलम के बाद: बिहार की कला” पुस्तक में इसी विषय को केंद्र में रखा गया हैं। Read more.

Category

Description

Author: Ram Pravesh Pal
Publisher: Ayah Media & Publishing Pvt Ltd
Year: 2020
Pages: 140
Cover: Hardbound
Language: Hindi

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “पटना कलम के बाद : बिहार की कला (भाग-1)”

पटना कलम के बाद : बिहार की कला (भाग-1)

Category
Receive the latest update

Subscribe To Our Weekly Newsletter

Get notified about new articles